Politics Shayari in Hindi || राजनीति पर शायरी, चुनावी शायरी(Chunavi Shayari)

राजनीति पर बेहतरीन शायरी(Politics Shayari in Hindi)-

भारत की राजनीति के लिए एक बात सच है कि भारत में विकास कार्य हो या न हो लेकिन उन सभी पर राजनीति आम बात है। जबकि हम सभी जानते है कि किसी नेता से पहले हमारा मोहल्ले या कोई आस पास का मित्र ही काम आ सकता है। (Politics Shayari)

Politics पर मजेदार Status के लिए आपको इस Post में एक Link दिया जायेगा जिससे आप Politics Status पढ़ सके, हम इसी तरह के बेहतरीन Article आपके लिए लेकर आते रहते है। आपको हम अपने ब्लॉग के और भी बेहतरीन Post की Link नीचे Share करेंगे जिससे आप हर तरह के Updates से जुड़े रहे। (Politics Shayari)

कुछ बेहतरीन शायरी- (Political Shayari in Hindi)-

Chunav Hai Kya-

Sarhadon Par Bahut Tanav Hai Kya,

Kuchh Pata To Karo Chunav Hai Kya.

सरहदों पर बहुत तनाव है क्या,

कुछ पता तो करो चुनाव है क्या।

Barabar Me Jakar-

Tamam Umra Hum Ek Dusare Se Ladte Rahe,

Magar Mare To Barabar Me Jakar Let Gae.

तमाम उम्र हम एक दूसरे से लड़ते रहे।

मगर मरे तो बराबर में जाकर लेट गए।।

Andhi Satta Ke Hathon-

Kagaj Ke Insano Par Aag Ki Nigrani Hai,

Andhi Satta Ke Hathon Masumon Ko Jaan Gawani Hai.

कागज के इंसानों पर आग की निगरानी है।

अंधी सत्ता के हाथों मासूमों को जान गवानी है।।

Hamari Zindagi Bhi Ek-

Jahan Har Din Sisakna Hai Jahan Har Raat Gana Hai,

Hamari Zindagi Bhi Ek Tavayaf Ka Gharana Hai.

जहाँ हर दिन सिसकना है जहाँ हर गाना है।

हमारी जिंदगी भी एक तवायफ का घराना है।।

Dharti Roti Na Degi-

Jo Saudagar Dollar Ka Hai Wo Kheti Ko Kya Aankega.

Dharti Roti Na Degi To Khane Me Sona Fankega.

जो सौदागर डॉलर का है वो खेती को क्या आँकेगा।

धरती रोटी ना देगी तो खाने में सोना फँकेगा।।

Mohabbat Ka Asar Zinda Kiya Hai-

Hamne Duniya Me Mohabbat Ka Asar Zinda Kiya Hai,

Hamne Nafarat Ko Gale Mil-Mil Ke Sharminda Kiya Hai.

हमने दुनिया में मोहब्बत का असर जिंदा किया है।

हमने नफ़रत को गले मिल-मिल के शर्मिंदा किया है।।

Sholo Se Hifajat-

Barood Ke Ek Dher Pe Baithi Duniya Ko Kya Sujh Rahi Hai,

Sholo Se Hifajat Ka Hunar Puchh Rahi Hai.

बारूद के इक ढेर पे बैठी दुनिया को क्या सूझ रही है।

शोलो से हिफाजत का हुनर पूछ रही है।।

Zinda Rahe Chahe Jaan Jaye-

Zinda Rahe Chahe Jaan Jaye,

Vote Usi Ko Do Jo Kaam Aaye.

जिंदा रहे चाहे जान जाएं।

वोट उसी को दो जो काम आएं।।

Main To Andha Hun Sahab-

Nazar Wale Ko Hindu Or Musalman Dikhta Hai,

Main To Andha Hun Sahab, Mujhe To Har Shakhs Me Insan Dikhta Hai.

नजर वाले को हिन्दू और मुसलमान दिखता है।

मैं तो अंधा हूँ साहब, मुझे तो हर शख्स में इन्सान दिखता है।।

Sarkaren Vaise Hi Chalti Hai-

Sabhi Ek Jaisa Hi LIkhte Hai, Bas Matlab Badal Jate Hai,

Sarkaren Vaise Hi Chalti Hai, Bas Vajeer-A-Azam Badal Jate Hai.

सभी एक जैसा ही लिखते है, बस मतलब बदल जाते है।

सरकारें वैसे ही चलती है, बस वजीर-ए-आजम बदल जाते है।।

Neend Kaise Aa Rahi Hai-

Atmhatya Ki Chita Par Dekhkar Kisan Ko,

Neend Kaise Aa Rahi Hai Desh Ke Pradhan Ko.

आत्महत्या की चिता पर देखकर किसान को।

नींद कैसे आ रही है देश के प्रधान को।।

Vida Na Ho Saki-

Keemat To Khub Badh Gai Dilli Me Dhaan Ki,

Par Vida Na Ho Saki Beti Kisan Ki.

कीमत तो खूब बढ़ गई दिल्ली में धान की।

पर विदा ना हो सकी बेटी किसान की।।

ज़रूर पढ़ें:-

दोस्तों शायरी के अलावा हम पढाई से Related Article भी लाते रहे है अगर आप एक Student है तो आप हमारी Website- saifaitimes.com पर Regular Visitor बन सकते है और हमारी Website से अपनी पढाई को बेहतर कर सकते है। पढाई और Books से Related Article पढने के लिए आप नीचे दिए Article पर जा सकते है और अपनी पढाई को अच्छे ढंग से आगे बढ़ाएं धन्यवाद ! मित्रो आपके प्यार और समर्थन के लिए

यह भी पढ़ें:-

दोस्तों आपको हमारा यह पोस्ट कैसा लगा हमें Comment में ज़रूर बताएं अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा है तो आप इस अपने प्रिय मित्रो के साथ Share करना बिलकुल न भूले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *